laptop

Content Outrank क्या है: जाने टॉप Post Outrank तकनीक

क्या आप भी अपने प्रतिस्पर्धी ब्लॉगर को पीछे छोड़ना चाहते है?

अगर हाँ।

तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पढ़ रहे है और आपसे रिक्वेस्ट से इसे अंत तक पढ़ने का प्रयास करे, क्योंकि अगर आप किसी एक पोस्ट को पूरा नहीं पढ़ पा रहे है, तो दूसरे से आपके ब्लॉग पोस्ट पढ़ने की आशा करना बेकार है।

तो सबसे पहला सवाल है आपका कॉम्पटीटर कौन हैं?

क्योंकि जब तक आप इस सवाल का जवाब नहीं जानेंगे, तब तक कोई फायदा नहीं मिलेगा।

प्रतिस्पर्धी को जाने

वैसे इन्टरनेट में लाखों या करोड़ों ब्लॉगर मौजूद है, पर जरूरी नहीं है कि सभी आपका कॉम्पटीटर ही हो।

जैसे किसी रेस्टोरेंट चलाने वाले का प्रतिस्पर्धी रेस्टोरेंट वाला ही होगा, न कि कोई प्रिंटिंग प्रेस वाला।

उसी प्रकार आप जिस टॉपिक पर अपना ब्लॉग लिखते है, तो आपका कॉम्पटीटर भी इसी टॉपिक पर लिखने वाला ही होगा और आपको इसे ही ओवरराइट करना होगा।

जैसे मैं खुद का ब्लॉग SEO और मनी मेकिंग जैसे टॉपिक पर लिखता हूँ हिंदी भाषा में, उसी प्रकार मेरा कॉम्पटीटर भी इसी टॉपिक पर हिंदी भाषा में लिखता होगा।

इसके अलावा आप Alexa के द्वारा भी अपने कॉम्पटीटर को खोज सकते है।

Alexa.com

यहां मैंने Backlinko को एक्सप्लोरर किया है, तो इसका कॉम्पटीशन Ahrefs, Moz जैसे साईट से है।

लेकिन यहां पर एक बात जरूर ध्यान देना चाहिए को Alexa के द्वारा आप सिर्फ पॉपुलर साइट के कॉम्पटीटर को खोज सकते है, लेकिन ब्रांड न्यू साइट में यह काम नहीं करेगा।

इसके अलावा आप Seobility साईट पर भी अपने कॉम्पटीटर को देख सकते है।

Seobility.com

लेकिन इसपर भी आपको फेमस साईट का ही कॉम्पटीटर खोज सकते है, क्योंकि ब्रांड न्यू साइट का टॉपिक उतना क्लियर नहीं होता है और ना ही इसका ज्यादा पेज रैंक होता है।

यही वजह है कि आप सिर्फ पॉपुलर वेबसाइट्स का ही कॉम्पटीटर को देख पाते है।

आपका ब्लॉग नया है, तो क्या आप अपने प्रतिस्पर्धी को नहीं खोज सकते है?

बिलकुल खोज सकते है।

इसके लिए आप गूगल या बिंग जैसे सर्च इंजन का बखूबी इस्तेमाल कर सकते है।

गूगल में सर्च ऑपरेटर “allintitle” का इस्तेमाल करके किसी भी ब्लॉग के उस पोस्ट या पेज को सर्च पेज में देख सकते है, जिसके टाईटल में कोई खास वर्ड इंक्लूड हो।

जैसे: allintitle:What is seo

Google.com

इसे जब सर्च किया जाता है, तब जितने भी पोस्ट आपके सामने अंपयर्स होगा,

Google.com
Google.com
Google.com
Google.com

उन सब के टाईटल में What is SEO इंक्लूड रहेगा।

इसके अलावा आप उसे स्पेसिफिक ब्लॉग को विजिट करके, उसे मेटा डिस्क्रिप्शन को पढ़ सकते है।

कुछ साइट खुद का मेटा डिस्क्रिप्शन को हाईड कर देता है या ऐसा किसी थीम को इस्तेमाल करने के वजह से भी हो सकता है।

searchengineland.com

इसके लिए आप उस साइट के About या About Us पेज को भी विजिट करके, उस साइट के बारे में पढ़ सकते है।

SearchEngineLand.com

यहां तक आप समझ ही गए होंगे कि अपने कॉम्पटीटर को कैसे डिस्क्राइब करे।

अब बारी है कैसे खुद के कॉम्पटीटर को बढ़िया ब्लॉग पोस्ट के जरिए ओवरराइट करे।

प्रतिस्पर्धी को हराना

अगर मैं Mobile Seo कीवर्ड को सर्च करता हूँ , तब हमारे सामने

Google.com

ऊपर दिए गए स्क्रीनशॉट आएगा, जिसमे अगर आपका साइट WebFX है, तो आपका निकटतम प्रतिद्वंदी SearchEngineLand होगा, इसके Moz फिर Backlinko होगा।

इसी वजह से सबसे पहले आपको SEL के पोस्ट को ओवराइड करना होगा, इसके लिए आपको SEL से कई गुना बेहतर आर्टिकल लिखना होगा।

जैसे अगर आपके कॉम्पटीटर ने 500 वर्डस वाले पोस्ट लिखा है, तो आपको चाहिए इससे 10x बेहतर कंटेंट 5000 वर्ड्स का पोस्ट लिखे।

10x Content is content that is at least ten times better than the next best piece of content available online on that same topic.

Backlinko

10X बेहतर पोस्ट लिखने के लिए आपको बेहतर स्ट्रैटजी अपनाना होगा।

बेहतर रिसर्च

किसी भी फील्ड में आप कितना भी बेहतर क्यों न हो, पर जब बात ब्लोग पोस्ट लिखने का हो, तो बेहतर रिसर्च करना होगा।

सही रिसर्च किए बगैर अच्छा पोस्ट लिखना संभव नहीं है।

मान लिया जाए आप सोशल मीडिया मार्केटिंग पर पोस्ट लिखना पसंद करते है, पर बात जब आपके ऑडियंस की हो, तो उसे कोई actionable guide चाहिए ताकि उसके प्रॉब्लम सॉल्व हो सके।

लेकिन आप बिना कोई रिसर्च किए ही लिखते है, तो पोस्ट ऑडिएंस को कोई फायदा नहीं पहुंचा सकता है।

इसलिए आप किसी पोस्ट को लिखते समय उसके रिलायबल सोर्स को जरुर ट्रेस करे और जरूरी बैकलिंक के साथ prove करके पोस्ट लिखे।

जैसे अगर आप SEO के बारे में लिखते है, तो जरूरी सोर्सेज साइट गूगल वेब मास्टर, यूट्यूब चैनल, ट्विटर पेज को जरुर विजिट करें।

इसके अलावा आप seo एक्सपर्ट के case study को जरुर पढ़ने का प्रयास करे, इससे आपको बहुत जानकारी मिल सकती है।

यूज बुलेट्स लिस्ट

किसी भी पोस्ट में बुलेट्स लिस्ट का होना जरूरी है।

इसमें किसी भी फैक्ट को सीधा समझने में यूजर को ज्यादा कोई दिक्कत नहीं होता है, क्योंकि बातों को सीधा कह दिया जाता है।

इसके अलावा बुलेट्स वाले पोस्ट पढ़ने में अच्छा खासा मजा आता है।

जब भी मैं rochhak साइट को विजिट करता हूँ, तो ज्यादा समय तक इसपर एंगेज रहता हूँ।

अट्रैक्टिव इमेज

अगर आप सिर्फ टेक्स्ट बेस्ड पोस्ट लिखने में विश्वास रखते है, तो आप उतना ज्यादा ट्रैफिक नहीं पा सकते है, जितने के हकदार है।

बेहतरीन इमेज यूजर को एंगेज रखने में मदद करता है, साथ ही लंबा पोस्ट न लिखते हुए भी आपको फायदा मिलने का चांस होता है।

ओवरऑल क्वालिटी पोस्ट सोशल मीडिया में ज्यादा शेयर होता है, लोग कॉमेंट करना पसंद करते है, जो गूगल जैसे वेब मास्टर के लिए गुड सिग्नल है, जिससे आप आसानी से अपने प्रतिस्पर्धी को ओवरराइट करने में मदद मिलती है।

बैकलिंक बनाना

किसी दूसरे वेबसाइट या ब्लॉग पर खुद के ब्लॉग/पोस्ट का यूआरएल जोड़ना ही बैकलिंक कहलाता है।

वैसे यह काम सिर्फ उस साइट के ऑनर ही कर सकता है।

सर्च पेज में रैंकिंग इंप्रूव करने के लिए आपको sufficient मात्रा में बैकलिंक चाहिए, जो हाई क्वॉलिटी होना चाहिए।

हाई क्वालिटी से मतलब है जिस वेबसाइट से आपको बैकलिंक मिल रहा है उसका पेजरैंक ज्यादा होना चाहिए तथा वह आपके ब्लॉग टॉपिक से भी मैच करना चाहिए।

वैसे गूगल ने कभी भी डायरेक्ट नहीं कहा है बैकलिंक रैंकिंग फैक्टर है, पर seo एक्सपर्ट का ऐसा मानना है कि बैकलिंक टॉप रैंकिंग फैक्टर है।

अगर आप NeilPatel साईट में SEO कीवर्ड को डिस्कवर करेंगे इंडिया बेस्ड कंट्री पर

NeilPatel.com

तो इसे रैंक करने के लिए डोमेन ऑथोरिटी के अलावा 4,273 भी बैकलिंक चाहिए।

हालांकि ये requirement समय के साथ चेंज भी हो सकता है।

अपडेट ओल्ड पोस्ट

एक अच्छा पोस्ट एक दिन या एक महीने में भी नहीं लिखा जा सकता है।

इसलिए आपको चाहिए समय समय पर ओल्ड पोस्ट को अपडेट करते रहना।

बहुत से seo एक्सपर्ट रोजाना नए पोस्ट ना लिख कर, पुराने पोस्ट को अपडेट करके इसे सोशल मीडिया में शेयर करते है या बिना शेयर लिए भी ट्रैफिक बढ़ जाता है।

Conclusions

ओवरऑल खुद का प्रतिस्पर्धियों को पीछे छोड़ने के लिए और भी तरीके हो सकते है, पर मेरे द्वारा बताए गए तकनीक भी कारगर है क्योंकि इसे बहुत सारे रिलायबल सोर्सेस के द्वारा लिखा गया है।

ख़ैर आज का पोस्ट आपको कैसा लगा हमे कॉमेंट करके जरुर बताने का प्रयास करे और एक अहम बात आप मेरे पोस्ट को सोशल मीडिया में शेयर नहीं कर रहे है, तो प्लीज इसे जरुर शेयर करे।

अंत में इस पोस्ट को समय देने के लिए आपका धन्यवाद्।

Happy Blogging 😇😇😇

Keep Reading

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

%d bloggers like this: