web page

Featured Snippets क्या है और इसे कैसे बढ़ाएं? जाने टैक्टिक्स

featured snippets in google search

आज के इस पोस्ट में हम सभी Features Snippet के बारे में जानने का प्रयास करेंगे। जैसे Featured Snippets क्या होता है? इसे कैसे बनाए और इसके क्या फायदे हो सकते है।

अगर आपको इसके बारे में अच्छी जानकारी चाहिए, तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़ने का प्रयास करे, वैसे भी इसमें ज्यादा-से-ज्यादा पाँच मिनट लगेगा।

खैर अब सीधा पोस्ट में आते है।

Featured Snippets क्या होता है?

Featured Snippets एक पेज समरी होता है, जो एक बॉक्स शेप के अंदर दिखाया जाता है।

Featured snippets are special boxes where the format of a regular search result is reversed, showing the descriptive snippet first.

Google Featured Snippets

नॉर्मली इस तरह के बॉक्स में पैराग्राफ, पोस्ट टाइटल और पोस्ट लिंक मौजूद रहता है।

Source: Google Search

इसके अलावा किसी में इमेज भी शामिल हो सकता है।

Source: Google Search

और इस तरह का तकनीक का इस्तेमाल के अलावा बिंग जैसे सर्च इंजन साईट भी करते है।

Source: Google Search

ओवरऑल featured snippets यूजर को सबसे बढ़िया इंफॉर्मेशन देने वाला रिजल्ट्स है, जिसे गूगल जैसे साइट टॉप पर दिखाते है।

नॉर्मली ज्यादातर फिचर्ड सनिप्पीट पैराग्राफ बेस्ड होता है।

GetStat ने 2016 में एक व्हाईटपेपर शेयर किया था, जिसके अनुसार पैराग्राफ जैसे featured snippets 82% दिखाते है, लिस्ट टाईप के 10.8% और टेबल टाईप के 7.3% दिखाते है।

खैर अब आगे बढ़ते हुए इसके टाइप्स के बारे में जानते है।

Featured Snippets का प्रकार

तो इसके बहुत से प्रकार है, लेकिन मैनली इसे वभिन्न प्रकार में बांटा गया है:

पैराग्राफ फीचर्ड सनिपेट

Source: Google Search

इस तरह के सनीपेट्स का मुख्य कंटेंट टाईप पैराग्राफ ही होता है। इसे डेफिनेशन बॉक्स भी कहते है क्योंकि इसमें ज्यादातर किसी डेफिनेशन (परिभाषा) को ही दिखाया जाता है।

लिस्ट टाईप फीचर्स सनिपीट

इस टाइप का स्निपेट्स नॉर्मल पैराग्राफ के बजाए लिस्ट के रूप में आता है।

कुछ ऑडर्ड नंबर के रूप में आता है।

Source: Google Search

तो कुछ अनॉर्डड नंबर का रूप में।

Source: Google Search

टेबल टाइप फीचर्स सनिपेट्स

कुछ सनिपेट टेबल के रूप में भी आते है।

Source: Google Search

वीडियो टाईप स्निपेट

कुछ वीडियो के रूप में भी आते है। इसमें ज्यादातर यूट्यूब वीडियो या फिर किसी और वीडियो स्ट्रामिंग का वीडियो दिखाया जाता है।

Source: Google Search

इसपर आप जब फोकस करते है, तब या वीडियो का प्रिव्यू भी दिखाने लगता है।

नॉर्मली फिचर्ड सनिप्पीट 4 प्रकार के ही होते है।

पर कुछ भी प्रकार है।

जिसमे सिर्फ इमेज से लेकर

Source: Google Search

मिक्सड पैराग्राफ, लिस्ट, टेबल और इमेज भी शामिल होता है।

Source: Google Search

Featured Snippet कैसे बनाए

दरअसल फीचर्स सनिपीट को कोई ब्लॉगर या डेवलपर बना नहीं सकता है और न ही किसी और से ऐसा करना सम्भव है।

इसे गूगल या बिग जैसे सर्च इंजन एल्गोरिथम ही जेनरेट करते है, ताकि यूजर्स को सबसे अच्छा जानकारी उपलब्ध कराया जा सके।

गूगल ब्लॉग पोस्ट के अनुसार

You can’t. Google systems determine whether a page would make a good featured snippet for a user’s search request, and if so, elevates it.

Featured Snippet का क्या महत्व है

अगर आप एक ब्लॉगर या किसी वेबसाइट का ऑनर है, तो इस टर्म को जानना आपके लिए बेहद जरूरी है।

ज्यादातर नए और पुराने ब्लॉगर, ब्लॉग ट्रैफिक को लेकर खासे परेशान रहते है। वह हमेशा ब्लॉग पर नए पोस्ट लिखते रहते है और कई बार किसी SEO एक्सपर्ट की भी मदद लेते है।

पर फायदा उतना नहीं मिल पाता है, जितना कि मिलना चाहिए।

लेकिन फीचर्स सनिप्पेट्स के वजह से आपका पोस्ट पहले ही दिखने लगता है, इसके बाद ही कोई दूसरा पोस्ट रैंक करता है।

एक तरह से जल्दी रैंक करने के लिए यह एक शॉर्टकट्स है, जो आपको गूगल या बिंग जैसे सर्च इंजन आपको प्रोवाइड करते है।

इसके वजह से आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक आने लगता है और आपका ट्रैफिक में पैसिव तरीके से उछाल आता है।

Source: Pixabay.com

और जब आपके ब्लॉग में ट्रैफिक बढ़ना शुरू हो जाता है, तब यह आपके रेवेन्यू को भी बढ़ने में काफी मदद करता है।

ओवरऑल यह किसी भी साइट के लिए बहुत फायदेमंद साबित होता है।

इन सब बातों से आपको ऐसा जान पड़ता होगा कास!!! आपके खुद से इसे जेनरेट कर पाते है।

जैसा कि मैंने आपके पहले ही बता दिया है कि इसे आप खुद से नहीं बना सकते है, पर इसे कम समय में गूगल द्वारा बनाने में मदद जरूर कर सकते है।

कैसे?

आईए जानते।

फीचर्ड स्निप्पीट उसी का बनता है, जिसके साइट का परफॉरमेंस सही रहता है। मतलब इसे सर्च इंजन गाइडलाइन के अनुसार अपडेट किया जाता हो।

इसके लिए आपके खुद के साइट का स्ट्रक्चर (ढांचा), पेज लोडिंग स्पीड, कंटेंट क्वालिटी पर हमेशा ध्यान देते रहे और जैसे ही कोई SEO गाइडलाइन में ऑफिशियल मॉडिफिकेशन होता है, तो उसके अनुसार खुद का ब्लॉग या साइट को भी अपडेट करे।

इससे आप हमेशा नए न्यूज के बारे में जान पाएंगे और खुद का साइट को भी इंप्रूव करने में मदद करेंगे।

Conclusions

वैसे आज के इस पोस्ट के जरिए मैं आपको जो बाते बताना चाहता था, वह बता चुका हूं।

फिर भी इसमें खुद और बाकी रह सकता है।

ओवरऑल आज के इस पोस्ट को आपने एन्जॉय किया है, तो हमे कॉमेंट करके जरूर बताने का प्रयास करे और इसे सोशल साइट में शेयर करके मेरे इस ब्लॉग को इंप्रूव करने में जरूर मदद करे।

अब अंत में इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

Keep Reading & Subscribe This Blog!!!

Happy Blogging!!!

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

%d bloggers like this: