how to add meta description in seo

मेटा डिस्क्रिप्शन क्या होता है और इसे वर्डप्रेस में कैसे जोड़े

how to add meta description in seo

हाल ही में, मैंने SEO Basics पर एक पोस्ट लिखा था और उसमे मेटा डिस्क्रिप्शन के के बारे थोड़ा-बहुत बताया है।

हालांकि उतना नहीं बता पाया, जितना कि बताना चाहिए था।

तो आज के इस पोस्ट के द्वारा आप मेटा डिस्क्रिप्शन के बारे में जान पाएँगे। जैसे- यह क्या होता है और इसका क्या-क्या फायदा है।

[Tweet “How to Add Meta Description in WordPress Post in Hindi “]

What is Meta Description in Hindi

सबसे पहला सवाल है मेटा डिस्क्रिप्शन क्या होता है। यह एक HTML attribute है, जिसका इस्तेमाल किसी ब्लॉग या पेज का शार्ट समरी दिखाने के काम आता है।

यह समरी <head> और <\head> टैग के बीच में appear होता है।

<head><meta name=”description” content=”Hi I am meta description” description”><\meta><\head>

HTML Code

यह वेबसाइट टाइटल के ठीक बाद दिखाई देता है।

meta description in hindi 2020

यहाँ टॉप पर जहाँ दो arrows से टेक्स्ट को सेपरेट किया है, वह मेटा डिस्क्रिप्शन है।

The meta description is an HTML attribute used to describe what a page is about.

—Ahrefs Blog

दरअसल जैसे टाइटल से यह पहचान होता है कि आखिर कोई आर्टिकल किस बारे में है, उसी प्रकार मेटा डिस्क्रिप्शन कंटेंट के बारे में और ज्यादा डिस्क्रिप्टिव होता है।

और यही वजह है कि बहुत सारे वेब मास्टर और प्रोफेशनलर इसे जोड़ने के लिए सलाह देते है।

Importance of Meta Description

ब्लॉगिंग का जर्नी कभी आसान नहीं रहा है, हर रोज अल्गोरिथम में छोटे-मोटे अपडेट के वजह से राइटर या seo एक्सपर्ट को तैयार रहना पड़ता है और पुराने कंटेंट को अपडेट भी करना पड़ता है।

इतना ही नही इतना सब तिकड़म करने के बाद भी विजिटर को एंगेज करके रख पाना आसान नहीं होता है।

और इसी एंगेमेंट को बढ़ाने के लिए बहुत से टैक्टिक्स का इस्तेमाल ब्लॉगर करते है।

और इसी मैं से एक टैक्टिक्स है मेटा डिस्क्रिप्शन।

जब भी कोई यूजर गूगल या किसी और सर्च इंजन में वर्ड ‘google’ टाइप करके सर्च करता है,

meta description example

तब इस तरह का रिजल्ट दिखाई देता है।

और क्या होगा? अगर रिजल्ट इस तरह से दिखाई दे

meta description examples

या इस तरह से

how to find meta description example

जहां तक बात है ऐसे यूजर का जिनको गूगल के बारे में पता है कि यह सर्च इंजन साइट है, पर उनका क्या जिसे शायद इंटरनेट का आई तक पता नहीं है।

वैसे लोगों के लिए ही मेटा डिस्क्रिप्शन सही है और काम के हिसाब से ऐसा मेरा मानना है और जो सही भी है।

इसका सबसे बड़ा फायदा यह है बिना किसी स्पेसिफिक पेज को विजिट किए बिना ही, जान जाते है कि वह पेज किस टॉपिक पर है।

साथ ही यह टैक्टिक्स आपका समय भी बचाता है। हर पेज के मेटा डिस्क्रिप्शन को पढ़ते जाते है और जिसमें इंफॉर्मेशन आपके काम का होता है, उसे खोल के इंफॉर्मेशन देख लेते है।

यहां तक तो आप जान ही गए होंगे यह क्या होता है और इसके इम्पोर्टेंस।

अब बारी है इसे कैसे लिखा जाए, ताकि यूजर एंगेजमेंट बढ़े और यह निर्भर करता है:

Devices

इसे क्रिएट करने के बाद इसका अपीयरेंस अलग- अलग डिवाइस पर निर्भर करता है, पर इसे बनाते समय हमेशा ध्यान मोबाइल पर ही रखना चाहिए।

BroadBandSearch 2019 रिपोर्ट के अनुसार भारत में 80% इंटरनेट का इस्तेमाल मोबाईल के द्वारा होता है।

इसलिए हमारा पहला फोकस मोबाइल ही होना चाहिए क्योंकि अगर इसे description डेस्कटॉप के अनुसार बनाया जाता है, तो मोबाइल में बहुत ज्यादा लंबा दिखेगा।

Lengths

मोबाइल में मेटा डिस्क्रिप्शन का लंबाई कितना होना चाहिए, यह हर जगह एक समान नहीं है।

सामान्यत: इसे 120-160 करैक्टर्स के बीच रखना चाहिए और आइडियल लेंथ 155 करैक्टर्स माना गया है।

गूगल के अनुसार: यह 155-160 करैक्टर्स के बीच में होना चाहिए लेकिन आइडियल 155 करैक्टर्स माना गया है।

बेस्ट SEO सर्विस प्रदान करने वाले चार फेमस कंपनी Moz, Ahrefs, Backlinko, NeilPatel का अनालिजिस Snippet Generator के द्वारा जेनरेट किया और रिजल्ट इस प्रकार रहा:

Moz: 184 characters|30 words

Ahrefs: 158 characters|31 words

BackLinko: 131 characters|21 words

NeilPatel: 134 characters|20 words

तो यहां पर मोज को छोड़कर सभी का कैरेक्टर 160 से कम है। तो यहां निष्कर्ष निकलता है कि इसका कोई फिक्स्ड लेंथ नहीं है, लेकिन हमेशा आइडियल लेंथ का इस्तेमाल करने से विजिटिंग बढ़ने का चांस हमेशा बना रहता है।

Write Perfect Meta Description

तो यहां अब ध्यान देने वाला बात है, इसे कैसे लिखें? इसे इस तरह से लिखना होगा, ताकि CTR (Click Through Rate) बढ़े और जब तक यह नहीं बढ़ेगा, तब तक आपका रेवेन्यू भी नहीं बढ़ेगा।

सबसे पहले तो आपके ब्लॉग का ऑथोरिटी ज्यादा होना चाहिए, तभी टॉप पेज में रैंक करेगा और जब तक रैंक नहीं करेगा, तब तक मेटा डिस्क्रिप्शन का फायदा आपको नहीं मिल सकता है।

#1 इसलिए इसे लिखते समय का कम से कम एक कीवर्ड का जरुर इस्तेमाल करे, क्योंकि यह प्लेस कीवर्ड के लिए सबसे अच्छा है और यहां से आपका पेज भी रैंक करेगा।

#2 इसे बस किसी बोरिंग सेंटेंस के तरह ने लिख, इसे इस तरह से लिखे ताकि यूजर अट्रैक्ट हो क्लिक करने के लिए।

#3 इसमें सामान्य मात्रा में एक्टिव वॉइस का इस्तेमाल करे।

#4 डिस्क्रिप्शन आपके ब्लॉग या वेबसाइट के अनुसार होना चाहि ऐसा ना हो कि बाहर कुछ और लगे और अन्दर कुछ और।

#5 सभी पोस्ट/पेज के लिए अलग- अलग यूनिक मेटा डिस्क्रिप्शन क्रिएट करे, ताकि रीडर को किसी तरह का भ्रम न हो।

परफेक्ट डिस्क्रिप्शन बनाने के लिए आप वेबसाईट या प्लगइन का सहारा लिया जा सकता है।

इसके लिए SEO Yoast टूल का इस्तेमाल कर सकते है। इसे किसी पोस्ट में अप्लाई करने के लिए:

#1 सबसे पहले सियो योस्ट को विजिट करके प्लगइन डाउनलोड कर ले और वर्डप्रेस में इसे इनस्टॉल करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे।

#2 अब इसे सेटअप कर ले। हालांकि अभी तक इसे सेटअप करने के लिए कोई पोस्ट नहीं लिखा है, फिर भी किसी तरह के समस्या के लिए मुझे कॉमेंट कर सकते है।

#3 अब जिस पोस्ट में इसे जोड़ना है, उसे एडिटर में खोल ले।

#4 इसके बाद स्क्रॉल करते हुए नीचे की तरफ आए

meta description checker

और जो ब्लू कलर में घेरा बना है, वहां पर अपना डिस्क्रिप्शन डाल सकते है। इसे डाल समय अगर लेंथ लंबा होने पर लाल कलर बॉर्डर दिखेगा और सही रहने पर ग्रीन कलर का दिखेगा।

अब वक़्त है कुछ सवालों के जवाब का।

Ques #1 क्या मेटा डिस्क्रिप्शन एक रैंकिंग फैक्टर है?

इसका जवाब नहीं है। सबसे पहले तो रैंकिंग फैक्टर के बारे में जाने। वैसे फैक्टर जो किसी ब्लॉग को डायरेक्ट रैंक करने में मदद करता है, उसे है रैंकिंग फैक्टर कहते है। इसमें शामिल होता है कीवर्ड, गुड बैकलिंक, डोमेन ऐज।

हालांकि मेटा डिस्क्रिप्शन में कीवर्ड का इस्तेमाल करना चाहिए, जो एक रैंकिंग फैक्टर है, पर जहां तक बात डिस्क्रिप्शन का है, वह रैंकिंग फैक्टर नहीं है और यह बात बहुत से ट्रस्टेड वेबसाइट के अनुसार कह रहा हूं।

हालांकि मोज का कहना है:

Google announced in September of 2009 that neither meta descriptions nor meta keywords factor into Google’s ranking algorithms for web search.

Ques #2 क्या इसका लेंथ करैक्टर्स फिक्स्ड होना चाहिए?

इस सवाल का जवाब जानने के लिए गूगल के ऑफिसियल ब्लॉग को कई तरह से डिस्कवर किया, पर फिक्स्ड लेंथ जैसा कोई जवाब नहीं मिला, एडवाइस के तौर पर इसे 155 से 160 के बीच ही रखना सही है।

Ques #3 अगर इसे नहीं डिस्क्रिप्शन को क्रिएट नहीं किया गया तो क्या होगा?

गूगल में इसे दो तरीके से हैंडल किया जाता है।

  1. सबसे बेस्ट तरीका है, इसे खुद से बनाए और दूसरा तरीका है।
  2. गूगल इसे खुद से टैग्स और बाकी इंफॉर्मेशन के मदद से जेनरेट करके शो करने लगेगा।

Conclusion

तो ये था मेटा डिस्क्रिप्शन के बारे में। मुझे विश्वास है आज के इस पोस्ट से आपके बहुत से जानकारी हासिल किया होगा, जो आपके बहुत मदद आने वाला है।

हो सकता है इसमें कुछ पार्ट छूट गया हो, और यह कोई नई बात नहीं है क्योंकि कोई भी पोस्ट एक बार में परफेक्ट नहीं लिखा जा सकता है।

हजार बार अपडेट करने पर भी इसे एक दम कंप्लीट करना आसान नहीं है।

तो बाकी बात बाद की है। अगर आपने आज के इस पोस्ट को एंज्वॉय किया है, तो कॉमेंट करके मुझे उत्साहित करने के जरुर प्रयास करे।

और मैंने नीचे शेयर करने के फीचर्स भी जोड़ा है, इसलिए लिंक्डइन, फेसबुक पर जरुर शेयर करे।

Sharing is Caring 🤠🤠🤠

अब अंत में इस पोस्ट को समय देने के लिए धन्यवाद।

 

2 thoughts on “मेटा डिस्क्रिप्शन क्या होता है और इसे वर्डप्रेस में कैसे जोड़े”

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

%d bloggers like this: